गुरुवार, 21 जनवरी 2010

वैज्ञानिक वास्‍तु : हमेशा उपयोगी है अच्छा वास्तु वातावरण



वास्तु शास्त्र की रचना मानव जीवन को सुखमय बनाने के उद्देश्य से की गयी है। जीवन की सबसे बड़ी धुरी है अर्थ। अर्थागम के लिए ही मनुष्य व्यवसाय करता है। किसी भी व्यवसाय के मूल में मानव ही होता है। आज व्यवसाय भी मानव संसाधन के महत्व को समझने लगे हैं। समुचित तथा योग्य टीम, सही वातावरण तथा साधनों के माध्यम से किसी भी कार्य को सही तरीके से अंजाम देने में सक्षम होती है। समझदार व्यवसायी हमेशा सही टीम की खोज में रहता है। किंतु टीम को आकर्षित करने के लिए एक अच्छा वास्तु वातावरण सदैव उपयोगी रहता है। इस कार्य के लिए सही वास्तु वातावरण वह स्थान दे सकता है जहां की कास्मिक ग्लोबल तथा टेल्युरिक तीनों प्रकार की ऊर्जायें अच्छी हों संतुलित हों। कास्मिक ऊर्जा जहां सही निर्णय लेने की क्षमता देती है जो कि सही चुनाव करने के लिये आवश्यक है। कहीं इसी तरफ ग्लोबल ऊर्जा में विशिष्ट आकर्षण शक्ति होती है। यह  आकर्षण शक्ति अधिक से अधिक लोंगो को स्थान विशेष की ओर आकर्षित करती है। यह ऊजा जहां होती है वहां का माहौल खुशहाल और भरा-पूरा रहता है। लोंगो का उत्साह बढ़ता है।
  कुछ अन्य वैज्ञानिक वास्तु के नियम भी भवन की ऊर्जाओं में संतुलित करने के लिए आवश्यक है, जैसे कार्य करने वाले के बैठने की दिशा तथा स्थान विशेष में प्रयोग किये गये रंग। सामान्यतः पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठना विधाध्यन, रिसर्च कार्य तथा ईमानदारी पूर्वक किये जाने वाले कार्यों के लिये उपयोगी है। उत्तर दिशा की ओर मुंह करके बैठना मैनिपुलेशन के कार्यों के लिये उपयोगी होता है।भवन अथवा कार्यस्थल की आंतरिक सज्जा इस प्रकार होनी चाहिये कि उत्तर तथा पूर्व का हिस्सा छत का हो इसके अतिरिक्त ईशान की तरफ स्थान का खुला होना भी सहयोगी होता है। दक्षिण पश्चिम का हिस्सा ऊँचा तथा भारी होना आवश्यक है। ये सामान्य नियम सहयोगी तो हैं किंतु आंतरिक साज-सज्जा में प्रयोग की गयी वस्तुओं की भी अपनी ऊर्जाओं का भी सकारात्मक होना अतिआवश्यक है, नकारात्मक ऊर्जाओं वाली वस्तुयें भवन का पूरा आंतरिक वातावरण नष्ट कर सकती हैं, यह हमेशा याद रखना चाहिए।
-संजीव गुप्त
                                                                                         

1 टिप्पणी:

  1. behtreen, prerak,samvednaon ko dheere se chhoo lene wale is dilchasp blog ke liye shukriya aur mubarak bad.Raju bhai we are proud of you.Jyoti sinha lucknow

    उत्तर देंहटाएं